लव जिहाद यूपी
उत्तर प्रदेश क्राइम

रिटायर आर्मी अफसर की बेटी को महबूब ने अगवा किया, इस्लाम कबूल करवाया : कर्नाटक से महबूब को दबोचा लाइ यूपी पुलिस

उत्तर प्रदेश पुलिस ने शुक्रवार (15 जनवरी 2021) कर्नाटक के विजयपुर जिले से एक 21 वर्षीय युवक को गिरफ्तार किया। उस पर गोरखपुर की एक नाबालिग लड़की का अपहरण करने और उसे जबरन इस्लाम कबूल कराने का आरोप है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ युवक ने अपनी मज़हबी पहचान छुपा कर लड़की से दोस्ती की थी। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में लड़की की उम्र 19 वर्ष बताई गई है। 5 जनवरी 2021 को पीड़िता के कॉलेज से घर वापस नहीं लौटने पर उसके पिता ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

गोरखपुर स्थित चिलुअतल पुलिस थाने के एसएचओ नीरज कुमार राय ने बताया, “जाँच के दौरान पीड़िता के फोन से मिले कॉल रिकॉर्ड के ज़रिए पता चला कि वह एक युवक से काफी बातें करती थी। ट्रूकॉलर पर उसका नाम ‘महबूब’ बता रहा था और उसकी लोकेशन कर्नाटक नज़र आ रही थी। यह जानकारी सामने आने के बाद 11 जनवरी को उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। आरोपित और पीड़िता की तलाश के लिए 3 पुलिसकर्मियों की टीम कर्नाटक भेजी गई थी।”



अपहृत लड़की के पिता सेवानिवृत्त सेनाधिकारी हैं। उन्होंने एफ़आईआर में कहा है कि आरोपित महबूब ने पिछले साल पहचान छुपा कर उनकी बेटी से सोशल मीडिया पर दोस्ती की थी। इसके बाद नौकरी का लालच देकर अपनी बातों में फँसाया। आरोपित पर आईपीसी की धारा 366 (अपहरण, शादी के लिए मजबूर करना या दबाव बनाना), 363 (अपहरण) और हाल में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पारित किए गए धर्मांतरण क़ानून की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था।

वहीं एक अन्य मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक़ आरोपित महबूब के पिता ने कहा, “मुझे इस मामले के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। बुधवार (13 जनवरी 2021) को पुलिस वाले आए और उन्होंने बताया कि मेरे बेटे ने एक लड़की का अपहरण कर लिया है। साथ ही उसने हिन्दू लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन भी कराया, अगर उसने वाकई ऐसा कुछ किया है तो उसे इसकी सज़ा मिलनी चाहिए। पुलिस वाले मेरे बेटे को उत्तर प्रदेश लेकर गए हैं, उन्होंने मुझे कुछ बताया भी नहीं है।”




इस घटना को लेकर विजयपुर एसपी अनुपम अग्रवाल का कहना था कि बुधवार को उत्तर प्रदेश पुलिस के तीन पुलिसकर्मियों की टीम आरोपित और हिन्दू लड़की की तलाश में वहाँ आई थी। पुलिस को शुरुआत में संदेह था कि वह गोवा में हो सकते हैं और इसके बाद उन्होंने आरोपित को पकड़ने के लिए उसके पिता की मदद ली। वहीं गोरखपुर की चितुअल पुलिस का कहना है, “फ़िलहाल हम आरोपित से लगातार पूछताछ कर रहे हैं। मामले की जाँच की जा रही है।”